Employees Provident Fund : घर बैठे ऑनलाइन अपडेट करें प्रोविडेंट फंड अकाउंट, फॉलो करें स्टेप्स

Employees Provident Fund घर बैठे ऑनलाइन अपडेट करें प्रोविडेंट फंड अकाउंट, फॉलो करें स्टेप्स : कर्मचारी भविष्य निधि ( Employees’ Provident Fund ) भारत सरकार द्वारा संचालित एक सोशल सिक्योरिटी प्रोग्राम है जो कर्मचारियों के भविष्य की कई तरह आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए उनके द्वारा नियमित योगदान का एक हिस्सा है। ये निधि कर्मचारियों को पेंशन, स्व-रोजगार अनुदान, नियंत्रणित निधि और बाकी कई तरह की सेवाएं प्रदान करती है। ये भविष्य में कर्मचारियों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य रखता है। कर्मचारी भविष्य निधि ( EPF ) की व्यवस्था भारत के सभी संबंधित कर्मचारियों को लाभ प्रदान करने के लिए बनाई गई है, जिससे उनके भविष्य के लिए आर्थिक रूप से सुरक्षित हो सके।

Update Provident Fund Account Online

Employees Provident Fund
Employees Provident Fund

एक मामूली सी गलती और आपकी गाढ़ी कमाई फंसी रह सकती है। आपके कर्मचारी भविष्य निधि ( Employees Provident Fund ) के साथ ऐसा ही होता है। साल दर साल KYC अपडेट नहीं होने की वजह से कई लाख EPF अकाउंट में ब्याज का पैसा (EPF interest ) ट्रांसफर करने में दिक्कतें आती हैं। ऐसी किसी भी स्थिति में आप EPF का पैसा भी नहीं निकाल पाएंगे। इसलिए जरूरी है कि कर्मचारी भविष्य – निधि संस्था ( Employees Provident Fund Organisation ) के पास रिकॉर्ड पूरी तरह सही हो और समय-समय पर इसे अपडेट जरूर करें।

DoB को अपडेट करना है आसान

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( EPFO ) ने जन्म तिथि ( Date of Birth ) को बदलने की सुविधा भी प्रदान की है। अगर EPF रिकॉर्ड्स में आपकी जन्म की तारीख गलत है, तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। आप इसे घर बैठे आसानी से अपडेट कर सकते हैं। यह सुविधा सभी सब्सक्राइबर्स को उपलब्ध है और आप आधिकारिक EPFO पोर्टल पर लॉग इन करके अपनी जन्म तिथि बदल सकते हैं। इससे आपके EPF खाते में सही और अधिकारिक जन्म तिथि दर्ज हो जाएगी और आपको किसी भी तरह की परेशानी से बचने में मदद मिलेगी। तो जल्दी से जल्दी यह आवश्यक बदलाव करें और अपने EPF खाते की सुरक्षा और नौकरी के बाद के भविष्य की योजना को ध्यान में रखें।

कैसे अपडेट होगी DOB?

अगर आपकी जन्म की तारीख ( Date of Birth ) में अंतर 3 साल से कम है, तो आपको EPFO यूनिफाइड मेंबर पोर्टल ( EPFO Unified Member Portal ) पर अपना आधार या ई-आधार ( e-Aadhaar ) सबमिट करना होगा। वहीं, अगर आपकी जन्म की तारीख में अंतर 3 साल से ज्यादा है, तो उस मामले में आपको EPFO यूनिफाइड मेम्बर पोर्टल ( UAN ) पर आधार या ई-आधार ( e-Aadhaar ) के साथ कुछ अलग से डॉक्युमेंट्स भी देने होंगे।

ये है इन दस्तावेजों की लिस्ट

1. जन्म प्रमाण-पत्र ( Birth Certificate )
2. विद्युत बिल ( Electricity Bill )
3. उपयुक्त पहचान पत्र ( Valid Identity Proof )
4. आधार कार्ड ( Aadhaar Card )
5. पैन कार्ड ( PAN Card )
6. पासपोर्ट ( Passport )
7. ड्राइविंग लाइसेंस ( Driving License )
8. स्कूल या शिक्षा संबंधित सर्टिफिकेट ( School or Education Related Certificate )
9. रजिस्ट्रार बर्थ सर्टिफिकेट ( Registrar Birth Certificate )
10. केंद्र या राज्य सरकार की संस्थाओं के सर्विस रिकॉर्ड्स पर आधारित सर्टिफिकेट
11. किसी सरकारी विभाग की तरफ से जारी विश्वसनीय दस्तावेज जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, ESIC कार्ड
12. मेंबर की जांच कर सिविल सर्जन का मेडिकल सर्टिफिकेट

ऑनलाइन सब्मिट होगी एप्लीकेशन

अपनी डेट ऑफ बर्थ ( Date of Birth ) को सही करने की रिक्वेस्ट को ऑनलाइन EPFO यूनिफाइड मेंबर पोर्टल ( EPFO Unified Member Portal ) पर सबमिट करनी होगी। इसके लिए आप इस लिंक पर जा सकते हैं: https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ ये एक बड़ी सुविधा है जो प्रोविडेंट फंड या PF सैलरी पाने वाले लोगों को मिलती है।

कर्मचारियों की बेसिक सैलरी से 12 फीसदी हिस्सा हर महीने Provident fund खाते में जमा होता है और इसी रकम को कंपनी भी कर्मचारी के खाते में जमा करती है। साथ ही याद रहे कि एम्प्लॉइज प्रोविडेंट फंड ( Employees’ Provident Fund ) खाताधारक के लिए अपने अकाउंट के लिए किसी व्यक्ति को नॉमिनेट करना जरूरी है। इससे आपकी मौत हो जाने पर आपके अकाउंट का नॉमिनी पीएफ अकाउंट में मौजूद राशि को आसानी से क्लेम कर सकता है।

Income Tax Expert Guidelines : 50 हजार से ज्यादा के गिफ्ट्स पर देना होता है टैक्स, यहां जानें